Breaking

Friday, October 5, 2018

ईश्वर का चमत्कार | Blessings and magic of God

शाम का समय था एक छोटी और प्यारी सी बच्ची ने मंदिर में प्रवेश किया | वह चुपचाप भगवान की मूर्ति की तरफ मुंह करके बैठ गई | जब उसे   बैठे हुए काफी समय हो गया तो पंडित जी ने उस लड़की से पूछा “बिटिया आप मंदिर में क्या करने आई हो” | उस मासूम लड़की ने कहा कि "मैं भगवान से मिलने आई हूं, आप प्लीज भगवान को बुला दो" |

      पढ़िए : क्या है अच्छे पड़ोसी का धर्म?

hindu temple

      पढ़िए : कहानी एक बदनाम फरिश्ते की

पंडित जी के लिए यह धर्म संकट वाली स्थिति थी | पंडित जी उस लड़की की भगवान को बुलाने की इच्छा पूर्ण करने में पूर्णतः असमर्थ थे | उन्होंने उस लड़की से पूछा कि "आपने भगवान से क्या कोई खिलौना मांगना है" | तब उस लड़की ने कहा कि "मुझे भगवान से चमत्कार करने के लिए कहना है" | पंडित जी के पूछने पर उस लड़की ने बताया कि कल रात को उसके पिता उसकी माता को कह रहे थे कि "डॉक्टर ने ऑपरेशन करने का खर्चा दस लाख रूपये बताया है | घर की सारी जमा पूंजी पहले ही इलाज में खर्च हो चुकी है |अब तो केवल भगवान का चमत्कार ही हमारे बेटे को बचा सकता है" |


cute indian child


पंडित जी असहाय थे | उनके पास इस समस्या का कोई समाधान नहीं था | संयोगवश उसी समय मंदिर में एक पति-पत्नी भी भगवान का दर्शन करने आए थे | उनकी शादी को जब कई वर्ष बीत चुके थे, और उनके घर में कोई संतान नहीं हुई तब पत्नी ने इस मंदिर में भगवान से अपने घर में संतान होने की  मन्नत मांगी थी | भगवान  के आशीर्वाद से उनके घर में एक पुत्र पैदा हुआ | जिस का शुकराना करने के लिए ही वह दंपति इस मंदिर में आए थे | वह पंडित जी और उस लड़की की बातों को बड़े ध्यान से सुन रहे थे | वह पति-पत्नी दोनों ही डॉक्टर थे | पति इस शहर के सबसे बड़े अस्पताल में न्यूरो सर्जन था | उसकी गिनती देश के बेहतरीन न्यूरो सर्जन डॉक्टर में होती थी | वह एक बहुत ही व्यस्त डॉक्टर था | लेकिन पत्नी के बहुत जोर देने पर उसने मंदिर आने के लिए  समय निकाला था | उसने देखा कि उस लड़की के हाथ में एक  इलाज का पर्चा भी था | डॉक्टर ने उस लड़की से दवाई का परचा लेकर देखा तो उसे पता चला कि उसके छोटे भाई को ब्रेन टयूमर है |

       पढ़िए :  सम्मान की रक्षा

operation theatre

       पढ़िए :  आपसी समझ और भरोसा

डॉक्टर ने उस लड़की से कहा कि मुझे भगवान ने आपके भाई को ठीक करने के लिए भेजा है, मुझे अपने घर लेकर चलो | डॉक्टर ने उसके घर जाकर बच्चे की तबीयत और उसके इलाज से संबंधित रिपोर्टें देखीं | और उस लड़की   के माता-पिता को अपना विजिटिंग कार्ड देते हुए अगले दिन उस बड़े अस्पताल में ऑपरेशन के लिए बच्चे को लाने के लिए कहा | डॉक्टर ने बच्चे का ब्रेन ट्यूमर का ऑपरेशन कर दिया | ऑपरेशन सफल रहा | उस मासूम लड़की की भगवान से चमत्कार करने की दिल से की हुई प्रार्थना पर भगवान ने चमत्कार कर दिया था |

No comments:

Post a Comment