Breaking

Tuesday, April 3, 2018

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती | always stay positive


stay positive and motivated
       एक राजा था | वह बहुत बहादुर था | उसने अनेक युद्धों में जीत प्राप्त करके अपने राज्य का विस्तार किया | उसने जनता की भलाई के लिए बहुत से कार्य किये | लेकिन जैसे-जैसे उसका यश, कीर्ति  और राज्य का विस्तार हो रहा था वैसे वैसे उसके दुश्मनों की संख्या भी बढ़ती जा रही थी | राज्य का सेनापति भी राजा के प्रति ईर्ष्या का भाव रखता था | वह राजा को हटाकर स्वयं राजा बनने की इच्छा रखता था |

       सेनापति हर समय इस प्रयास में रहता था कि, किसी भी प्रकार से राजा को उसके पद से हटाकर उसके राज्य पर अपना कब्जा कर लिया जाए | सेनापति ने राजा को अपने रास्ते से हटाने की एक योजना बनाई | वह राजा को अपने कुछ विश्वासपात्र सैनिकों के साथ शिकार खेलने ले गया | वहां पर सेनापति ने मौका देखकर राजा के भोजन में नशे की दवा मिलाकर दे दी  | जिसके प्रभाव से राजा बेहोश हो गया | सेनापति ने राजा के हाथ-पांव बांधकर उसे एक अंधेरी गुफा में बंद कर दिया | और उस गुफा के द्वार पर बड़ा सा पत्थर यह सोच कर रख दिया कि राजा इसी गुफा में भूख प्यास से तड़प कर  मर जाएगा |


work hard till you get success


       राजा को जब होश आया तो उसने देखा कि उसके हाथ पैर बंधे हुए हैं और वह एक अँधेरी गुफा में कैद है | उसे सारी स्थिति समझ आ गई | राजा निराश हो गया | उसे लगा कि अब उसका इसी  गुफा में अंत होना निश्चित है | कुछ देर निराशा की स्थिति में रहने के बाद अचानक उसे अपनी माता का एक वाक्य याद आया जो कि वह अक्सर कहा करती थी " कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती " | मां का यह वाक्य याद आते ही जैसे राजा को एक नई प्रेरणा और शक्ति प्राप्त हो गई थी | अब राजा ने पूरे आत्मविश्वास के साथ गुफा का निरीक्षण किया | 


       गुफा में नाममात्र का प्रकाश था | थोड़ी दूरी पर एक टूटे हुए कांच का टुकड़ा पड़ा हुआ था | राजा ने पूरा जोर लगाकर अपने हाथों की रस्सियों को ढीला किया | शीशे के टुकड़े से हाथ पैर के बंधन काट दिए | लेकिन कांच के टुकड़े से हाथ की रस्सी काटते हुए उसके हाथ बुरी तरह से लहू लुहान हो गए थे | मां का मंत्र कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती याद करते हुए उसने जख्मी हाथ पर कसकर रुमाल बांध दिया थोड़ी देर में खून निकलना बंद हो गया था | अब राजा ने गुफा के द्वार से पत्थर हटाने का प्रयास किया | लेकिन पूरा जोर लगाने के बाद भी पत्थर नहीं हिला | राजा निराश होकर बैठ गया | राजा को एक बार फिर मां का वाक्य " कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती " याद आया | राजा ने एक बार फिर पूरी ताकत के साथ जोर लगाया इस बार पत्थर हिलने के कारण एक तरफ को लुढ़क गया और गुफा से बाहर निकलने का रास्ता बन गया |


       राजा कैद से आज़ाद होते ही शीघ्रता से अपने महल में पहुंचा | राजा के आदेश पर सैनिकों ने सेनापति और उसके षड्यंत्रकारी साथियों को गिरफ्तार कर लिया | राजा को मां के वाक्य में छिपी महान शिक्षा का पता लग गया था कि पुरुषार्थ करने से व्यक्ति निश्चित रूप से सफल होता है | इस वाक्य से मिली प्रेरणा से ही राजा के प्राण बच पाए थे |

No comments:

Post a Comment